फसल बुआई के काम सुरू होगे

फसल बुआई के काम सुरू होगे

23-Jun-2020

फसल बुआई के काम सुरू होगे
प्रदेस म खेती किसानी के काम जोरदरहा सुरू होगे हे, हमर प्रदेस म धान के फलस प्रमुखता से बोऐ जाथे, आज कल जैविक खेती के चलन बाड़गे हे, बीज खाद वितरन बर कृषि विभाग ह सहकारी समितिमन ला बीज उपलब्ध कराथे। अउ आने वाला बेरा म कृषि के विकास बर वैज्ञानिक तरिका ले आने आने उदिम करे जाही। 

 

हाता ग्राउनड  के लोकार्पन 15 अगस्त तक

हाता ग्राउनड के लोकार्पन 15 अगस्त तक

22-Jun-2020

हाता ग्राउनड  के लोकार्पन 15 अगस्त तक
जगदलपुर कलेक्टर श्री रजत बंसल सहर के हाता ग्राउनड म पहुंचके ग्राउनड के उन्नयन कार्य के जायजा लिन। ये दौरान उन उप अभियंता अउ ठेकेदार ले निर्मान काम के जानकरी लिन  अउ  निर्मान काम ल जुलाई के आखिरी तक पूरा करे बार कहिन ।  अगस्त 15 तारिख के ऐ ग्राउनउ के अनिवार्य रूप ले लोकार्पन कराऐ के निर्देस दिन। 
          कलेक्टर ह गाउनड के आस पास के क्षेत्र ल व्यवस्थित करे के अउ गाडी मोटर के पार्किंग बर टंेडर के पक्रिया सुरू के निदेस दिन । 

 

गौठान समितियों के आय के जरिया बनिस नेपियर गा्रस

गौठान समितियों के आय के जरिया बनिस नेपियर गा्रस

22-Jun-2020
गौठान समितियों के आय के जरिया बनिस नेपियर गा्रस
राज सरकार के सुराजी ग्राम योजना ग्राम विकास के सपना साकार कर थें। गौठान योजना ले गाव म फसल के सुरक्षा के संग -संग आर्थक लाभ भी होना चाहि । कोरिया जिले के गांव गौठान समितिय के चारागाह ले फायदा मिलथें ।  ईंहा के गा्रम गौठान समिति मन ह नेपियर ग्रास नामक हरा चारा के गठानें बेचकर दु लाख रूपिया ले ज्यादा के लाभ प्राप्त करे गिस। 
    कोरिया जिला म पहिली चरन म बनाए गए गौठान मन  से 10 आदर्स गौठान मन ले आस - पास कृसि विज्ञन केंद्र  के सहयोग ले चारागाह के विकास करे गिस है। गौठान के आसपास रिक्त पांच-पांच एकड भूमि म नेपियर ग्रास के उत्पादन करे जात हें। एमा से आठ चारागाह म पर्याप्त मात्रा म उत्पादन होवत हे। उपयोग पस्चात पेस बचे नेपियर गा्रस ल राज के विभिन्न जिला के भेजकर गौठन समिति मन ह आय अर्जित करना सुरू कर दिन। पसु मन के हरा चारा के अलावा नेपियर ग्रास के गांठ बीज के रूप् म भी अन्य जिला म मांग के आधार म भेजे जावत हे। चारागाह के संचालन स्थानीय गांव गौठान समिति मन कोति ले करे जात हे। 
      सुराजी गाव योजनांतर्गत गौठान के पसु मन के लिए हरा चारा के व्यवस्था बर लगाए गए नेपियर ग्रास से पसु मन के आहार मिलथ । साथे -साथे व्यवसायिक लाभ जिला के ग्राम गौठान समिति मन ला मिलथ हे।
मुख्यमंत्री ह परदेसवासिमन ल रथयात्रा के बधाई दिन

मुख्यमंत्री ह परदेसवासिमन ल रथयात्रा के बधाई दिन

22-Jun-2020

मुख्यमंत्री ह परदेसवासिमन ल रथयात्रा के बधाई दिन
मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल ह परदेसवसि मन ल रथयात्रा के बधाई अउ सुभकामनांए दीन । उन मन ये अवसर म भगवान जगन्नाथ ले सबो नागरिक के सुख,समृद्धि अउ खुसहाली के प्रार्थना करिन । श्री बघेल ह आज इंहा रथयात्रा के पहिली अपन बधाई संदेस म कहिन कि भगवान जगन्नाथ के रथयात्रा सौहार्द,भाई-चारा अउ एकता  के प्रतीक माने जाथे। पूरा देस म हर साल भक्ति-भाव अउ उत्साह ल रथयात्रा के आयोजन करे जाथे। अउ ऐमा हजार लोग एमा सामिल होथे। छत्तीसगढ़ ले लगे उड़ीसा राज के पुरी म भगवान जगन्नाथ के धाम हें पडोसी राज होए के कारन प्राचीन काल ले ही छत्तीसगढ़वासि मन के भगवान जगन्नाथ म बहुत गहरा आस्था अउ जुड़ाव हे। मुख्यमंत्री ह कोरोना संक्रमन ल देखत हुए लोगन ले अपील करिन की   लोग एक जगह भीड़ लगाले ले बचे । भगवान जगन्नाथ की आराधना सोसल डिस्टेंसिग अउ संक्ररमन ले बचाव बर जारी दिसा -निर्देसो के पालन कर हुए। 

 

गा्रमोद्योग बन गे गांवईया महिलामन के जीवन यापन जरिया

गा्रमोद्योग बन गे गांवईया महिलामन के जीवन यापन जरिया

22-Jun-2020

गा्रमोद्योग बन गे गांवईया महिलामन के जीवन यापन जरिया
छत्तीसगढ़ राज म गा्रमोदयोग के ग्रामीन क्षेत्र के महिला मन के अपन जीवनयापन के जरिया बनिया। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के मंसा के अनुसार गा्रमोदयोग मंत्री गुरू रूद्रकुमार के मार्गदर्सन म ग्रामीन महिलामन के रोजगार ले जोड़कर स्वावलंबी बनाये अउ ग्रामीन ल उंखर कुसलता अउ दक्षता के अनुसार घर बइठे रोजगार उपलब्ध कराये जा सकत हे। 

 

योग ल अपन जीवन के हिस्सा बनावः मुख्यमंत्री

योग ल अपन जीवन के हिस्सा बनावः मुख्यमंत्री

21-Jun-2020

योग ल अपन जीवन के हिस्सा बनावः मुख्यमंत्री 
   मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल ह आज अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस म अपन रायपुर स्थित निवास म बिहनिया योग के आने आने मुद्रा म अभ्यास करिन। ये अवसर म उन मन प्रदेसवासि मन के योग दिवस के बधाई अउ सुभकामना देवत,योग ल अपन दिनचर्या म सामिल करे क अपील करिन।
      मुख्यमंत्री ह अपन संदेस म कहिन कि बहुत प्राचीन परंपरा म से एक योग हें। जेनला हमन अष्टांग योग के रूप म जानथन। यम,नियम,आसन,प्रानायाम, प्रत्याहार, धारन ,ध्यान अउ समधि ये आठ हिस्सा अष्टांग योग हे। आसन इन सब ले जोड के बनथे। यम अउ नियम म विसेस जोर दे के आवस्यकता हे। तभे अष्टांग योग के जीवन म फायदा मिलही । मै सबो साथि ले निवेदन अउ आग्रह करत हो कि  अपन जीवन म योग ला हिस्सा बनावव्। थोर किन समय निकाल के अपन सरीर बर यम,आसन अउ प्रानायाम के पालन करव।

 

कलेक्टर श्री वर्मा ह बैगा जनजाति परिवार के हाल-चाल के जानीन

कलेक्टर श्री वर्मा ह बैगा जनजाति परिवार के हाल-चाल के जानीन

20-Jun-2020

कलेक्टर श्री वर्मा ह बैगा जनजाति परिवार के हाल-चाल के जानीन
कलेक्टर श्री टोपेष्वर वर्मा ह साप्ताहिक दौरा म छुईखदान विकासखंड के पहाड़ी म बसे दूरस्थ गांव ढोलपिट्ट पहुंच के बैगा जनजाति परिवार ले मिलके रहन -सहन के संबध म चर्चा करिन। देवपुरा गांव पंचायत के ये गाव म कुल 28 बैगा परिवार म रईथे। ये गांव 25 एकड़ बन भूमि मे बसे हें। सबो परिवार बर प्रधानमंत्री आवास,सौचालय अउ मुर्गी सेड बनाए गे हे। 
      कलेक्टर श्री वर्मा ह बैगा परिवार के पुरूस अउ महिला  सदस्य ले चर्चा करिन। सबो 28 परिवार बर सामूहिक बन अधिकार अधिनियम ले 145 एकड़ बन भूमि के पट्टा दिये गे हे। हर परिवार ल 5 एकड़ जमीन तको दे हें। कलेक्टर ह खेती -किसानी के अलावा वनोपज  हर्रा,बेहडा,बेल,गुदा अउ सहद संगह के अलावा औसधि गंुन के जानकारी देवत सही दाम म बेचे के सलाह दीन। 

 

छत्तीसगढ म सुरू हुईस मुख्यमंत्री सड़क योजना

छत्तीसगढ म सुरू हुईस मुख्यमंत्री सड़क योजना

20-Jun-2020

                                    छत्तीसगढ म सुरू हुईस मुख्यमंत्री सड़क योजना


                   परदेस के सबो सासकीय भवन अउ सार्वजनिक स्थान म होही आसानी


                 ये बछर 200 करोड़ रूपिया के लागत ले 1116 काम कारज कराए जाही।
मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल ह अपन निवास कार्यलय म मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के सुभारंभ करिस। मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के माध्यम ल परदेस के सबो सासकीय भवन अउ सार्वरनिक स्थान म पहुचे म अब आसान होही। ये योजना ले राज भर के अइसे सबो सासकीय साला,चिकित्सालय,काॅलेज,आंगनबाड़ी भवन,उचित मूल्य के दुकान अउ आने सैक्षणिक संस्थान जेन अभी तक मुख्य रोज ले पक्का सड़क कोति नई जुडे़ हे। वे सबो पक्का अउ बारहमासी रोड ले जुडही। 
     ऐ अवसर  म गृह अउ लोक निर्मान मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल ह सुगम सड़क योजना के सुभारंभ कर,कहिन कि आज के दिन महत्वपूर्न हे,हमर राष्ट्रीय नेता श्री राहुल गांधी के जन्मदिन हे, तभो ले भारत चीन के सीमा म लद्दाख म सहीद हुए जवान के याद आज  सेवा के काम करे जात हे । हमर कारकरता सेवा काम म लगे हावय । कोरोना संक्रमन के रोकथाम बर लोगन ला मास्क अउ मरीज ल फल बांटे जात हे। 

 

सुदूर वनांचल क्षेत्र के महारानी अस्पताल बनिस इलाज के प्रमुख केंद्र

सुदूर वनांचल क्षेत्र के महारानी अस्पताल बनिस इलाज के प्रमुख केंद्र

20-Jun-2020

सुदूर वनांचल क्षेत्र के महारानी अस्पताल बनिस इलाज के प्रमुख केंद्र
छत्तीसगढ़ सरकार कोति ले आत जनता ला सस्ता,सुलभ अउ कारगर स्वास्थ्य सुविधा दे बर डा.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना,मुख्यमंत्री विषेस सहायता  योजना संग आने कार्यक्रम चलाए जात हे। इखरे संग आम आदमी लोगन के बेहतर इलाज हो सकए , एखर बर सरकारी अस्पताल  म सबो जरूरी सुविधा दे जाही। बस्तर के मुख्यालय जलगदलपुर के सासकीय चिकित्यालय महारानी अस्पताल म राज सरकार के विसेस प्रयास के फलस्वरूप सुविधा के विस्तार होए से अस्पताल छत्तीसगढ़ अउ बस्तर संभाग के लोगन ला सुलभ अउ कारगर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करे जाहीं।

 

विश्व पर्यावरण दिवस म मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह अपन निवास परिसर म   आमा, जाम अउ बोहार के पेड लगाईन

विश्व पर्यावरण दिवस म मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह अपन निवास परिसर म आमा, जाम अउ बोहार के पेड लगाईन

05-Jun-2020

विश्व पर्यावरण दिवस म मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह अपन निवास परिसर म   आमा, जाम अउ बोहार के पेड लगाईन
प्रदेसवासि मन ले अपन धरों  म या आसपास एक पौंधा लगावय अउ ओला जीवित रखें के जिमेदारी के अपील करिन
पेड अगर वाई-फाई देतिन त अबड़ पेड लग जातीस ,पेड हमर जीवनदायनी आक्सिजन देथें
         मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल ह आज विस्व पर्यावरण दिवस के अवसर म राजधानी रायपुर स्थित अपन निवास  म आमा, जाम अउ बोहर के पौधा लगाईन। श्री बघेल ह ये अवसर म प्रदेसवासि मन ले अपील कर हुए कहिन कि आप सबो अपन घरों म या आसपास एक पौंधा  जरूर लगाव अउ एला जियत रखें के जिम्मेवारी लव। चाहे वो फलदार पेड़ के पौधा होवय या चाहे इमारती लकड़ी या फेर फूल के होवय। एमा हमर आसपास के वातावरन अच्छा होथें , सुध आक्सीजन हमला मिलथें अउ ज्यादा ले ज्यादा रहियाली होही। 
           श्री बधेल कहिन कि छत्तीसगढ़ बहुत भाग्यसाली हे, कि ईंहा 44 प्रतिषत क्षेत्र म जंगल हे। हमर पुरखा मन इन जंगल ल सहेज के रखे हे। एखर महता ल हतर पूर्वज बने समझत रहिन । हमर पहचान, हमर संस्कूति  अउ हमर जनजीवन एमा जुडे हे।  रूख-राई  नई होतीन त , तापमान कतका बढ़ जातीस। प्रकृति के संतुलन बिगड़ जातीस । एमा सबले बडे नुकसान के सामना हमला करे ले पड़तीस ।