रबी के मौसम म प्रधानमंत्री फसल बीमा

रबी के मौसम म प्रधानमंत्री फसल बीमा

12-Dec-2019

दुर्ग, रबी के मौसम म प्रधानमंत्री फसल बीमा के लाभ उठाए बर किसान भाई अपन नजदीकी सहकारी समिति, बैंक अउ एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी, लोक सेवा केंद्र म जाके 31 दिसंबर 2019 तक आवेदन कर सकत हें।

रबी मौसम साल बर ऋणी अउ अऋणी किसान मन के बीमा के आखरी तारीक 31 दिसंबर हे। ये योजना ऋणी कृषक मन बर अनिवार्य अउ अऋणी कृषक मन बर स्वैच्छिक आधार म लागू होही। अधिसूचित फसल उबजइया सबो गैर ऋणी कृषक जऊन ये योजना म सामिल होए के इच्छुक हें ओ मन जरूरी कागद जमा करके योजना म सामिल हो सकत हें।

फसल बीमा बर अधिसूचित फसल– प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बर दुर्ग जिला म अधिसूचित फसल ये प्रकार ले हे- गेहूं सिंचित, गेहूं असिंचित, चना राई-सरसों अऊ अलसी।

फसल बीमा योजना बर जरूरी कागद – योजना के तहत ऋणी किसान मन के बीमा अनिवार्य रूप ले संबंधित सहकारी समिति या बैंक कोति ले करे जाही। एखर बर ऋणी किसान ल घोषणा पत्र अऊ बुवाई के प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होही। अऋणी किसान ल फसल बीमा योजना के लाभ उठाए बर बैंक सहकारी समिति या लोक सेवा केंद्र म बीमा प्रस्ताव के फॉर्म भरना होही। एखर अलावा किसान ल आधार कार्ड, बैंक पासबुक, जमीन के मालिकाना के साक्ष्य जइसे बी 1, पाँचसाला, किराएदारी, साझेदारी किसान के कागद, घोषणा पत्र अऊ बुवाई के प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होही।

प्रीमियम के राशि– प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत गेहूं सिंचित के ऋणमान प्रति हेक्टेयर 30 हजार अऊ गेहूं असिंचित के ऋणमान 22 हजार रुपिया प्रति हेक्टेयर हे। ये राशि के डेढ़ प्रतिशत प्रीमियम किसान ल देना परही ये प्रकार गेहूं सिंचित बर 450 रुपिया प्रति हेक्टेयर अऊ गेहूं असिंचित बर 330 रुपिया प्रति हेक्टेयर प्रीमियम देना होही। एखर अलावा चना फसल बर 555 रुपिया प्रति हेक्टेयर राई-सरसों बर 500 रुपिया प्रति हेक्टेयर अऊ अलसी बर 168 रुपिया प्रति हेक्टेयर प्रीमियम देना होही।

बीमा कवर– प्रधानमंत्री बीमा योजना के तहत खाल्‍हे म देहे मुताबिक जोखिम म बीमा के कवर देय होही-
बाधित बुवाई या रोपण जोखिम- खराब मौसम के सेती अधिसूचित क्षेत्र के 75 प्रतिशत क्षेत्र म बुवाई नइ होए म बीमित राशि के 25 प्रतिशत तक क्षति पूर्ति, ये चना फसल बर लागू।
खड़े फसल म बुवाई ले कटाई तक- गैर बाधित जोखिम जइसे सूखा, अकाल, ओलावृष्टि, जल प्लावन, बवंडर, चक्रवात, तूफान, आंधी, आकाशीय बिजली, प्राकृतिक अग्नि दुर्घटना, भू स्खलन के सेती अधिसूचित क्षेत्र म अधिसूचित फसल के अनुमानित उत्पादन या थ्रेसोल्ड उत्पादन 50 प्रतिशत ले कम होए म। सबले अधिक 25 प्रतिशत अग्रिम भुगतान, आखरी दावा मन ले एडजस्ट होही।
फसल कटाई के बाद होवइया नुकसान के सेती- फसल कटाई के बाद ओला, खेत म सूखाए बर रखे के बेरा आए प्राकृतिक आपदा जइसे बारिश, ओलावृष्टि, चक्रवात, तूफान आदि ले होवइया नुकसान के सेती सबसे अधिक 14 दिन बर बीमा के प्रावधान होही। एखर बर किसान ल 72 घंटा पहिली बीमा कंपनी ल सूचित करना होही।

कुक्कुट विज्ञान विषय के राष्ट्रीय सम्मेलन म मंत्री श्री रविन्द्र चैबे ह शुभारंभ करिन

कुक्कुट विज्ञान विषय के राष्ट्रीय सम्मेलन म मंत्री श्री रविन्द्र चैबे ह शुभारंभ करिन

12-Dec-2019

कामधेनु विश्वविद्यालय म पोल्ट्री साइंस विसय म तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन

 

संसदीय कार्य मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ह करिस शुभारंभ

दुर्ग, छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय अंजोरा, दुर्ग अंतर्गत पशुचिकित्सा अउ पशुपालन महाविद्यालय अउ इंडियन पोल्ट्री साइंस एसोसिएशन के संघरा आयोजन म तीन दिन के राष्ट्रीय सम्मेलन के शुभारंभ संसदीय कार्य, प्रौद्योगिकी, पशुपालन, मत्स्यकी, उद्यानिकी, कृषि, जैव अउ आयाकट मंत्री श्री रविन्द्र चौबे के कर कमल ले करे गीस। मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ह कहिन कि मुर्गी पालन ले कुपोषण के समस्या ल हल करे जा सकत हे। ग्रामीण क्षेत्र म स्वरोजगार प्राप्ति करे जा सकत हे। किसान मन के आय दुगना करे बर पोल्ट्री, डेयरी अउ फिशरीज क्षेत्र मन म घलोक जादा ध्यान देहे के जरूरत हे। संगेच उमन विश्वविद्यालय के अनुसंधान म न ल मैदानी स्तर म लागू करे के जरूरत उपर जोर दीन। शासन के महत्वकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के तहत उन्नत पशुधन संवर्धन संरक्षण गौठान सुदृढ़ीकरण, समिति ल सशक्त करे के दिशा म काम करे ल कहिन। घुरवा ले कम्पोस्टींग अउ जैविक फार्मिंग के दिशा म काम होवय, जल के महत्व अउ संरक्षण के दिशा म काम होवय आदि बात उपर जोर देहे ल कहिन।

छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.एन.पी. दक्षिणकर ह किसान मन के आय म बढ़ोतरी बर कुक्कुट पालन के महत्व ल बताइन। उमन बताइन कि मुर्गी पालन ले कुपोषण अउ बेरोजगारी के समस्या ल घलोक दूर करे जा सकत हे। डा.ए.के. मिश्रा, अध्यक्ष, कृषि वैज्ञानिक चयन बोर्ड, भारत सरकार ह बताइस कि मुर्गी पालन के राष्ट्रीय आय म योगदान करीबन एक लाख करोड़ रूपिया हे। भारत म मुर्गीपालन के करीबन 70 प्रतिशत संगठित अउ 30 प्रतिशत असंगठित क्षेत्र ले होथे। डा. एम.के. अग्निहोत्री, सहायक महानिदेशक, कृषि अनुसंधान भवन, नई दिल्ली ह बताइस कि पोल्ट्री के ये कांफ्रेंस ले न केवल छत्तीसगढ़ राज्य भलुक पूरा भारत देश ल उन्नत कुक्कुटपालन बर उचित दिशा निर्देश मिल सकही। ये सम्मेलन के आयोजक सचिव अउ अधिष्ठाता पशुचिकित्सा संकाय डा.एस.पी. तिवारी ह बताइस कि पोल्ट्री इंडस्ट्री भारतीय कृषि म सबले जादा विकास दर वाला क्षेत्र ये। इमन लाभकारी कुक्कुट उत्पादन बर उन्नत जर्मप्लाज्म, संतुलित पोषण के जरूरत ल चिन्हांकित करिन। संगेच बताइन कि अभी हाले म बैकयार्ड कुक्कुट पालन के विकास दर व्यावसायिक कुक्कुट पालन ले घलोक जादा हे।

ये राष्ट्रीय सम्मेलन म देशभर के करीब 250 वैज्ञानिकगण सामिल होइन। ये तीन दिन के सम्मेलन के माध्यम ले पोल्ट्री म लाभदायी अउ उन्नतशील शोधपत्र अउ व्याख्यान ले पोल्ट्री व्यवसायी, किसान अउ अनुसंधान कर्ता मन ल जानकारी दिए जात हे। ये तीन दिन के राष्ट्रीय सम्मेलन म देशभर के पोल्ट्री व्यवसाइ मन घलोक सामिल हासेए हें। ये सम्मेलन म कुक्कुट व्यवसाय ले जुड़े व्यवसायी अउ किसान मन ल कुक्कुट पालन, प्रबंधन, कुक्कुट पोषण, पोल्ट्री पैथोलाजी, पोल्ट्री ब्रीडिंग अऊ पोल्ट्री म होवइया बीमारी अउ उंखर रोकथाम आदि विषय मन म शोधपत्र, पोस्टर प्रजेंटेशन के माध्यम ले जानकारी दिए जात हे। ये सम्मेलन म कुल 8 तकनीकी सत्र होही।

ये इंडियन पोल्ट्री साइंस एसोसिएशन के छत्तीसवां वार्षिक सम्मेलन ये जेखर आयोजन छत्तीसगढ़ राज्य म पहली पइत होवत हे। ये पोल्ट्री साइंस संगोष्ठी के विसय ‘‘कांस्पचुअल अंडरस्टैंडिंग एण्ड फ्यूचर स्ट्रैटेजी फार वेलफेयर फ्रेंडली पोल्ट्री प्रोडक्शन ए इंडिया’’ हे। ये आयोजन ले छत्तीसगढ़ राज्य के संगें-संग पूरा भारत देश के आगंतुक विद्वान मन ले पोल्ट्री साइंस ले संबंधित कई ठन विषय मन के लीड पेपर, संदर्भित पत्र अउ एकदम नवा अनुसंधान लेख मन के पाठ करे जात हे। जेखर विसय के खांटी जानकार मन ले गहन विवेचन घलोक करे जात हे। एखर से न केवल कुक्कुट पालक, किसान मन भलुक पोल्ट्री इंडस्ट्री ल घलोक दिशा निर्देश प्राप्त होवत हे। ये आयोजन म 49 लीड पेपर अउ 176 अनुसंधान लेख मन के पठन अउ चर्चा संबंधित तकनीकी सेशन म करे जात हे।

सम्मेलन म गेस्ट आफ आनर के रूप म विधान सभा सदस्य श्रीमती छन्नी साहू विधायक, खुज्जी, श्रीमति उषा पटेल अउ श्री आलोक चन्द्राकर सदस्य कार्यपरिषद छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय, अंजोरा के माननीय सदस्य अउ विशिष्ट अतिथि डा.ए.के. मिश्रा, अध्यक्ष, कृषि वैज्ञानिक चयन बोर्ड, भारत सरकार, छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय के कुलपति डा.एन.पी.दक्षिणकर, डा. एम.के. अग्निहोत्री, सहायक महानिदेशक, कृषि अनुसंधान भवन, नई दिल्ली, डा. अमित शर्मा, निदेशक एफ.एस.एस.ए.आई., डा. के.के. ध्रुव, अकतहा संचालक, पशुधन विकास विभाग, डा. ए.जलालुद्दीन, अध्यक्ष, इंडियन पोल्ट्री साइंस एसोसिएशन आदि जनप्रतिनिधि अउ गणमान्य अतिथिगण उपस्थित होइन। तीन दिन के संगोष्ठी के पहिली दिन आज उद्घाटन समारोह, अवार्ड सेरेमनी, थीम पेपर प्रस्तुतीकरण, अखिल भारतीय पोल्ट्री साइंस क्वीज प्रतियोगिता के स्क्रीनिंग अउ राउंड टेबल कांफे्रस संपन्न होइस। राउंड टेबल कांफे्रस के विसय वैज्ञानिक, कुक्कुट उद्योग अउ किसान सहचर्चा के आयोजन होइस जेखर से कुक्कुट पालक मन के समस्या मन उपर गहन विचार विमर्श अउ ओखर वैज्ञानिक समाधान, सुझाव विसय खांटी जानकार मन दीन।

स्कूली मंत्री प्रेमसाय सिहं ह यु.पी. के मुख्यमंत्री ल आदिवासी नुत्य महोत्सव के नेवता दीन

स्कूली मंत्री प्रेमसाय सिहं ह यु.पी. के मुख्यमंत्री ल आदिवासी नुत्य महोत्सव के नेवता दीन

12-Dec-2019

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ह योगी आदित्यनाथ ल राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के दीन नेवता
योगी आदित्यनाथ ह चंदखुरी म माता कौशल्या के मंदिर अऊ राम वन गमन परिपथ के विकास काम बर छत्तीसगढ़ सरकार के सराहना करिन

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कोति ले सबो राज्य मन के मुख्यमंत्री मन ल राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव म सामिल होए बर भेजे निमंत्रण ल प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह लखनऊ म उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ल देवत ओ मन ल ये महोत्सव म सामिल होए बर आमंत्रित करिन। योगी आदित्यनाथ ह छत्तीसगढ़ म आयोजित होवइया राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव बर अपन शुभकामना दीन अऊ छत्तीसगढ़ आए के आश्वासन घलोक देहे हें। जानबा हे कि राज्य सरकार कोति ले अवइया 27, 28, 29 दिसंबर के छत्तीसगढ़ म पहली पइत राष्ट्रीय स्तर के आदिवासी नृत्य महोत्सव के आयोजन करे जात हे जेखर बर सबो राज्य मन के मुख्यमंत्री मन अऊ उहां के आदिवासी नृतक दल मन ल ये महोत्सव म सामिल होए बर आमंत्रित करे जात हे।

ये बेरा म उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ह काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी म पूजा बर चढाए वाले फूल मन के सदुपयोग करत इत्र अगरबत्ती अऊ धूप बनाए के काम योजना के बारे म विस्तार ले जानकारी दीन अऊ एला छत्तीसगढ़ म घलोक अमल करे करे के सुझाव दीन। एखर से जिहां महिला समूह ल रोजगार मिलही संगेच संग मंदिर म चढ़ाए फूल मन के सदुपयोग घलोक होही।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ह ये जानके प्रसन्नता व्यक्त करिन के छत्तीसगढ़ सरकार प्रभु राम के माता कौशल्या जी के मंदिर के जीर्णोउद्धार करइया हे अऊ संगे संग प्रभु राम वन गमन परिपथ के निर्माण के घलोक काम करत हे। उमन सलाह दीन हे कि भविष्य म माता कौशल्या मंदिर परिसर चंदखुरी म कोनो अइसन आयोजन करे जाए जेमां उत्तर प्रदेश सरकार के सहभागिता घलोक सुनिश्चित हो सकय। ये बेरा म उमन कुंभ उपर आधारित पुस्तिका घलोक स्कूल शिक्षा मंत्री ल भेंट करिन। ये बेरा म संचालक उच्‍च शिक्षा श्री पी दयानंद अऊ श्री आर. पी. सिंह उपस्थित रहिन।

स्वर्गीय श्री पंथराम वर्मा ला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल श्रद्धांजलि दिन

स्वर्गीय श्री पंथराम वर्मा ला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल श्रद्धांजलि दिन

12-Dec-2019

स्वर्गीय श्री पंथराम वर्मा ला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल श्रद्धांजलि दिन

श्रद्धाजलि सभा म कहिनए सार्वजनिक जीवन म रहिन सादा जीवन उच्च विचार के चिन्हारीए उंखर योगदान अतुलनीय
दुर्गए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज सर्वोदयी अऊ गांधीवादी नेता स्वर्गीय श्री पंथराम वर्मा ल श्रद्धांजलि देहे अउ शोक संतप्त परिवार ले मिले पाटन ब्लॉक के ग्राम मटंग पहुंचिन। उमन स्वर्गीय श्री वर्मा के निधन ल अपूरणीय क्षति बताइन। मुख्यमंत्री ह कहिन कि सार्वजनिक जीवन म उमन सादा जीवन जादा विचार के सिद्धांत ल आजीवन अपनाए रखिन। पूरा जीवन बापू के सिद्धान्त म चलत रहिन। चरखा ले सूत कातत रहिन। कोनो विचार ल लेके अइसन दृढ़ता दुर्लभ ही देखे म आथे। गांधी अऊ विनोबा के विचार मन ल उमन आत्मसात करे रहिन। उमन सुदीर्घ अऊ यश भरे जीवन जीइन। अपन पीछू ओ मन अपन मूल्य मन के धरोहर छोड़ गे हें।
सार्वजनिक जीवन म कइसे आचरण होवयए ऊंखर जीवन ले ये आदर्श मिलथे। मुख्यमंत्री ह ये बेरा म स्वर्गीय श्री वर्मा कोति ले भूदान आंदोलन के समय करे गए काम मन के घलोक सुरता करिन। उमन कहिन कि ग्राम मटँग के मनखे मन बर अऊ हम सब बर ये बहुत गौरव के बात हे कि ये गांव अऊ हमर क्षेत्र अतीक यशस्वी नायक के कर्मभूमि रहे हे। मुख्यमंत्री ह कहिन कि राष्ट्र अऊ समाज के संग ही ओखर धर्म ल लेके घलोक चिंतन विशद रहिस। ओ मन अइसन परिवार ले आये रहिन जिहां त्याग के परंपरा रहिसए समाज बर आगू आके काम करे के प्रेरणा रहिस। ओ मन यशस्वी पिता स्वर्गीय उदयराम वर्मा के यशस्वी पुत्र रहिन। आध्यात्मिक क्षेत्र म घलोक उंखर ज्ञान विशद रहिस। ओ मन हमेशा रामायणए महाभारत के उदाहरन देवत रहंय। कर्म अऊ विचार के अइसन सुंदर सुयोग दुर्लभ होथे।
ग्राम बेलौदी म स्वर्गीय प्यारेलाल नायक ल घलोक दीन श्रद्धांजलिदृ मुख्यमंत्री ह ग्राम बेलौदी म स्वर्गीय प्यारेलाल नायक ल श्रद्धांजलि अर्पित करिन अऊ ऊंखर शोकसंतप्त परिवार ल ढांढस बंधाइन।
आमालोरी म स्वर्गीय गजाबाई ल दीन श्रध्दांजलिदृ ग्राम आमलोरी म मुख्यमंत्री ह स्वर्गीय गजाबाई ल घलव श्रद्धांजलि दीन। ओ मन श्री अनिल चंद्राकर के माता रहिन। मुख्यमंत्री ह श्री चंद्राकर अउ शोक संतप्त परिजन मन ल ढांढस बंधाइन।

किसान मन चिंता झन करव, सरकार पूरा धान खरीदही, अफवाह ले रहव दुर:मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल

किसान मन चिंता झन करव, सरकार पूरा धान खरीदही, अफवाह ले रहव दुर:मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल

10-Dec-2019


किसान मन चिंता झन करव, सरकार पूरा धान खरीदही, अफवाह ले रहव दुर:मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल 
-मुख्यमंत्री के निर्देष म धान खरीदी के व्यवस्था ल चाक -चैंबद करे मुख्य सचिव पंहुचिन खरीदी केन्द्र मन म 
- धान उपार्जन केन्द्र मन के करिस औचक निरीक्षण 
-किसान मन ले चर्चा कर व्यसस्था के जानकारी लीन
मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल ह कहिन हें कि प्रदेष के किसान मन ल कोनो प्रकार के चिंता करे के जरूरत नइ हे । राज्य सरकार पूरा धान खरीदही। किसान मन ल समय म भुगतान होवत हे। धान खरीदी के संबंध म फैलाए जात अफवाह मन ले आप मन दूर रहव ।मुख्यमंत्री श्री बघेल के निर्देष  म धान खरीदी के व्यवस्था ल चाक - चैबंद करे राज्य के मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल  अधिकारी मन के संग आज भिनासहा पड़ोसी राज्य मन क सीमा ले लगे ईलाका मन क संगेच राजनांदगांव,जांजगीर- चापा ,बिलासपुर,मुंगेली,कर्वधा जिला के कई धान खरीदी केन्द्र मन म  पंहुचिन। मुख्यमंत्री ह सबो जिला कलेक्टर मन ल ये ताकीद दीए है कि किसान मन ल धान बेचे म कोनो दिक्कत नइ होना चाही। धान खरीदी केन्द्र मन म सबो जरूरी व्यवस्था दुरूस्त रखे जाए अऊ किसान मन ल भुगतान समय म होना चाही।
        हम आप ल बता देवन के प्रदेष म एक दिसम्बर 2019 ले 6 दिसम्बर 2019 तक पहिलि हफ्ता  म एक लाख 73  हजार 491 किसान मन ले 7 लाख  11 हजार 306 मैट्रिक टन धान के खरीदी करे गए हे। धान विक्रय करइया एक लाख 26 हजार 897 किसान मन ल 700 करोड़ रूपिया ले ज्यादा के भुगतान करे जा चुके हे। 
   मुख्यमत्री श्री बघेल के निर्देष म मुख्य सचिव आज हेलीकाप्टर ले अधिकारी मन के संग भिनसरहा साढे़  आठ बजे जे निरीक्षण चालु करत  राजनांदगांव जिला के चिरचारी,कवर्धा जिा के रंेगाखार , मुंगेली जिला के पंडरभट्टा ,बिलासपुर जिला के कोटा पिपरसरई-भरारी-नेवरा , जाजंगीर -जापां जिला के चारपारा स्थित धान खरीदी केन्द्र मन के निरीक्षण करिन। निरीक्षण के समय उमन सीधा किसान मन के बात चीत करके धान खरीदी व्यवस्था के बारे म  जानकारी लीन। किसान मन ह बताइन कि धान खरीदी केन्द्र मन म किसान मन ल पूरा सहयोग देहे जात हे। श्री मंडल  ह धान खरीदी केेन्द्र मन म किसान मन के पंजीयन  अऊ भुगतान के संबंध म दर्ज करे जात  आॅनलाईन जानकारी घलोक देखिन । रंेगाखार म किसान ह बताइस कि मोबाइल म पइसा खाता म जमा होए के मैसेज आए है। पंडरभट्टहा मुंगेली म वयोवृद्ध किसान घलोक उहां टोकन म धान बेचत मिलिस ।
       मुख्य सचिव श्री मंडल ह राज्य के किसान मन ले कहिन कि धान खरीदी अभियान  के तहत किसान मन ले केन्द्र कोति ले निरधारित समर्थन  मूल्य म धान के खरीदी करे जात हे। केन्द्र षासन कोति ले काॅमन धान बर 1815 अऊ ग्रेड-ए धान बर1835 रूपिया के समर्थन मूल्य निरधारित करे  गए है । खरीदी के रकम किसान मन के खाता म सीधा जमा करे जात हे।उमन बताइस कि मुख्यमंत्री ह प्रदेष के किसान कन के खाता  म सीधा जमा करे जात हे।उमन बताइस कि मुख्यमंत्री ह प्रदेष के किसान मन ल  आष्वस्त  करे हे। कि राज सरकार कोति ल अपन घोषणा पत्र म करे गे वादा क मुताबिक प्रति क्ंिवटल 2500 रूपिया धान के कीमत  देही। समर्थन मूल्य म धान के खरीदी के बाद अंतर क रासि के भुगतान नवा योजना बनाक किसान मन के खाता म करे जाही । उमन ये घलोक स्पष्ट करे हैं कि राज्य सरकार प्रति एकड़ 15 क्विंटल के मान ले धान खरीदत है। ये मा कोनो प्रकार क लिमिट नइ लगाए गए है। किसान कोनो प्रकार के अफवाह या भ्रामक बात म झन आवंय अऊ हरहिंछा धान खरीदी केन्द्र मन म धान बेचे जावंय। उमन किसान मन ले आग्रह करिन कि धान खरीदी  केन्द्र  मन म धान बेचे जावंय।  उमन किसान मल ले आग्रह करिन कि धान खरीदी केन्द्र मन म  धान लात बेरा ये देख लव कि धान म नमी क प्रतिषत निरधारित  सीमा ले जादा झन होवय। धान बेचे ले पहिही खलिहान म बने सहिन सुखा लेवव।

मुख्यमंत्री ले अमेरिका के काउंसलेट जनरल ह करिस सौजन्य मुलाकाल

मुख्यमंत्री ले अमेरिका के काउंसलेट जनरल ह करिस सौजन्य मुलाकाल

10-Dec-2019
मुख्यमंत्री ले अमेरिका के काउंसलेट जनरल ह करिस सौजन्य मुलाकाल 
 मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल ले आज इहां ऊंखर निवास कार्यालय म अमेरिका के कांउसलेट जरनल श्री डेविड जे.रेंज के सियानी म मुम्बई के प्रतितिधि मंडल ह सौजन्य मुलाकात करिस । ये बेरा म मुख्यमंत्री क संग प्रतिनिधिमंडल ह एग्राीकल्चर अऊ फुड प्रोसेसिंग  सेक्टर म संभावना मन उपर विस्तुत विचार-विमर्ष करिन। मुख्यमंत्री श्री बघेल ह श्री डेविड जे.रेंज ल स्मृति चिन्ह भेंट करके सम्मानित घलोक करिन। अमेरिका के कांउसलेट जनरल के नेतृत्व म आए प्रतिनिधि मंडल ह उहां मिट्टी अऊ गोबर ले बनाए जात  जिनिस मन ल घलोक देखिन अऊ गौठान के संचालन के बारे म जानकारी लीन। उमन स्वसहायता समूह मन कोति ले करे  जात आर्थिक गतिविधि मन के बारे म चर्चा करिन। ये बेरा म मुख्यमंत्री क ग्रामीण विकास सलाहकार श्री प्रदीप सर्मा घलोक ऊंखर संग रहिन ।
मुख्यमंत्री ले पोलेण्ड के राजदुत ह करिन सौजन्य मुलाकात

मुख्यमंत्री ले पोलेण्ड के राजदुत ह करिन सौजन्य मुलाकात

10-Dec-2019

मुख्यमंत्री ले पोलेण्ड के राजदुत ह करिन सौजन्य मुलाकात 
मुख्यमंत्री श्री भूपेस बघेल ले आज इहां ऊंखर निवास कार्यालय म भारत म पोलैण्ड के राजदूत श्री एडम बुरकोवस्की ह सौजन्य मुलाकात करिन। ये बेरा म उमन मुख्यमंत्री के संग कोईला के क्षेत्र म व्यापक संभावना मन के सबंध म चर्चा करिन । उमन बताइन कि रायपुर जिला के अभनपुर तीर स्थ्ति कुष्ट आश्रम के 50 वां वर्षगांठ के अवसर म उमन इहां आए रहिन । ये मौका म मुख्यमंत्री श्री बघेल ह श्री एडम बुराकोवस्की ल स्मूतिचिन्ह भेंटकरके सम्मानित घलोक करिन । 

 

अमर सहीद वीर नारायण सिंह के बलिदान हमेसा रहही याद: श्री भूपेस बघेल

अमर सहीद वीर नारायण सिंह के बलिदान हमेसा रहही याद: श्री भूपेस बघेल

10-Dec-2019

अमर सहीद वीर नारायण सिंह के बलिदान हमेसा रहही याद श्री भूपेस बघेल 
सहीद वीर नारायण सिहं के सहादत दिवस म मुुख्यमंत्री भूपेस बघेल ह विन्रम श्रद्धांजलि दीन ,10 दिसम्बर के छत्तीसगढ़ के पहिली स्वतंत्रता सेनानी अमर सहीद वीरनारायण सिंह के सहादत दिवस म ओ मन ल नतन करत विनम्र श्रद्धांजति दिन । मुख्यमंत्री बघेल कहिन कि भारतीय स्वतंत्रता आदालन के गौरवसाली इतिहास म छत्तीसगढ़ के वीर सपूत वीर नारायण सिंह के बलिदान ल हमेसा याद करे जाही।
    श्री बघेल ह कहिन कि छत्तीसगढ़ महतारी के सच्चा सपूत वीर नारायण सिंह जेमन सन्1857 म देस के पहिली स्वतंत्रता संग्राम आदोलन म छत्तीसगढ़ के जनता म देस भक्ति के संचार बर उमन अंगरेजी हुकुमत के खिलाफ कठिन अऊ अपन प्राण न्यौछावर कर दीन। सहीद वीर नारायण सिंह के दे के आजादी अऊ मातृभूति के प्रति समर्पण , बलिदान ल हमेसा याद करे जाही।

 

कांग्रेस सरकार आदिवासी मन के करत हे अपमान : कौसिक

कांग्रेस सरकार आदिवासी मन के करत हे अपमान : कौसिक

11-Aug-2019
कांग्रेस सरकार आदिवासी मन के करत हे अपमान : कौसिक नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौसिक के कहना है कि कांग्रेस सरकार आदिवासी मन के अपमान करात हे, सरकार के मंत्री सिव डहरिया के कहना है कि आदिवासी अपना जीवन चलाय बार पंचर घिसे के काम करवा, येकर से सरकार के मनसा समझ म थे कि सरकार के आदिवासी मन के विकास अउ सम्मान के कोनों फिकर नये। भाजपा के सासन काल म आदिवासी मन के पूरा पूरा ध्यान रखेंगे रिहिस । शिक्षा, रोजगार, जीवन यापन के जरूरी सामान अउ पाव बर पनही केभी व्यवस्था करे गे रीहिस हे । सरकारी योजना म उंकर भागी- दारी ज्यादा ले ज्यादा रहाय , ये पुरा के पूरा प्रबध काटेंगे रीहिस हे। अभी के कांग्रेस सरकार आदिवासी विकास बर नही अपमान बर बात करत हे ।।।
अनुच्छेद -370 बेअसर बर कोर्ट म चुनौतीँ

अनुच्छेद -370 बेअसर बर कोर्ट म चुनौतीँ

11-Aug-2019

अनुच्छेद -370 बेअसर बर कोर्ट म चुनौतीँ
अनुच्छेद-370 बेअसर कर जम्मू-कस्मीर ला दू केंद्र सासित प्रदेस म बांटे के कारण नेसनल काँफेस ह सुप्रीम कोर्ट  म चुनौती दे हे। पार्टी के कहना हे कि राज के लोगन से पूछे बीना उनकर अधिकार छीन ले गे। ये याचिका लोकसभा संासद जस्टिस हसनैन मसूदी अउ मोहम्मद अकबर लो ह दायर करें हें। हसनैन मसूदी जम्मू एंड कष्मीर हाईकोर्ट के जज रहिस । 2015 म फैसला दे रहिस कि अनुच्छेद-370सविंधान के स्थायी हिस्सा हे। हसनैन के संग याचिका दायर करईया दुसर नेता मोहम्मद अकबर लोन अलगाववादी नेता अब्दुल गनी लोन के बेटा हें । राज ला दू राज कंेद्र सासित बनाए के अउ जम्मू-कष्मीर पुनर्गठन कानून 2019 अउ अनुच्छेद -370 म बदलाव ले जुडे़ रास्ट पति के आदेस ल  चुनौती दे हे ।