उपलब्धि ले भरे हे बीज निगम - श्याम बैस

उपलब्धि ले भरे हे बीज निगम - श्याम बैस

12-Sep-2018
उपलब्धि ले भरे हे बीज निगम - श्याम बैस छत्तीसगढ़ राज्य मं बीज अउ कृषि विकास निगम के स्थापना स्वस्थ अउ गुणवत्ता पूर्ण सस्ता बीज अउ आने कषि उपज ले जुड़े लाभ किसान मनला उपलब्ध कराय के उददेष्य देय गेय रहिस। ताकि स्थानीय किसान मनला उनकर मांग के अनरूप सस्ता दर मं बीज उपलब्ध होय। अइसन उदगार एक भेट के दौरान बीज निगम के अध्यक्ष श्री याम बैस व्यक्त करिन। बैसजी बीज निगम के उपलब्धि बर सरलग बताइन। उनकर कहना रहिस के किसान मनला उनकर मांग के अनुसार कृषि सुविधा उपलबध कराना बीज निगम के प्रथम दायित्व हे। जेकर निर्वहन करत बीज निगम आर्थिक रूप से कमजोर कृषक मनला निःषुल्क बीज वितरण के काम भी सफलता पूर्वक करे गेय हे। जेकर लाभ लघु अउ सीमांत किसान पाय हें। बैसजी खुद एक प्रगतिषील कृषक हें। जेन किसान के परेषानी अउ कृषि काम मं अपइया बाधा के पूरा जानकार हें। किसान के हित ल ध्यान मं रख के बीज निगम मं कार्य योजना बनाए जात हे। बैसजी कहिन के बीज निगम मं कृषक मनके हित मं अनेक किसम के योजना चलत हे। जेखर लाभ सीधा किसान भाई ले सकत हें। बीज उत्पादन, बीज निगम के उपलब्धि हे के निगम गठन के समय 2005-06 मं बीज उत्पादन 5.917 हेक्टेयर क्षेत्र मं अउ वर्ष 2006-07 मं 64.366 क्विटल उत्पादन रहिस। जेन वर्ष 2016-17 मं 35,670 हेक्टेयर क्षेत्र मं 10,063 कृषक मनके द्वारा उत्पादन लेय गइस। जेन वर्ष 2005-06 के तुलना मं 503 प्रतिषत जादा हे। वर्ष 2017-18 मं बीज उत्पादन 400000 हेक्टेयर क्षेत्र मं लेय जाही। बीज उपार्जन, वर्ष 2012-13 मं 6.52.608 क्विटल उपार्जन करे गइस। जेन वर्ष 205-06 के तुलना मं 1.014 प्रतिषत ले बाढ़ के रहिस। वर्ष 2016-17 मं 9.39.000 क्विटल प्राप्त होय के संभावना रहिस। वर्ष 2005-06 के तुलना मं 1458 प्रतिषत जादा हे। वर्ष 2017-18 मं 10 लाख क्विंटल बीज उपार्जन के लक्ष्य रखे गेय हे बीज वितरण, वर्ष 2005-06 मं 66.980 क्विटल बीज के वितरण के विरूद्ध वर्ष 2012-13 मं 6.74.353 क्ंिवटल बीज के वितरण करे गइस। जेन वर्ष 2005-06 के तुलना मं 1.007 प्रतिषत जादा हे। वर्ष 2016-17 मं 10.85.404 क्विटल बीज के वितरण करे गेय हे। जेन वर्ष 2005-06 के तुलना मं 1.014 प्रतिषत ले बाढ़ के वर्ष 2016-17 मं 9.39.000 क्विटल पैक्ड बीज मिले के संभावना हे। जेन वर्ष 2005-06 के तुलना मं 1458 प्रतिषत जादा हे। वर्ष 2017-18 मं 10 लाख क्ंिवटल बीज वितरन के लक्ष्य रखे गेय हे। उत्पादन मं उल्लेखनीय बृद्धि होय के कारन छ.ग. प्रदेष ला भारत सरकार ले 3 बेर कृषि कर्मण पुरस्कार मिल चुके हे। निःषुल्क धान बीज वितरण, मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा के अनुसार सूखा प्रभावित क्षेत्र मं प्रदेष के लघु अउ सीमान्त कृषक मन ला राहत पहंुचाय बर बीज निगम द्वारा 2016 मं 4.44.835 क्विंटल धान बीज राषि रू. 94 करोड़ 50 लाख के निःषुल्क धान बीज वितरण करे गेय हे। जेकर ले प्रदेष के किसान मन मं उत्साह रहिस। बीज प्रक्रिया केंद्र, आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र दंतेवाड़ा जिला के गीदम मं नवां बीज प्रक्रिया केंद बनाए जात हे। कोण्डागाॅव अउ सुकमा जिला मं घलव बीज प्रक्रिया केंद्र जल्दी शुरू करे जाही। बीज गोदाम एवं भंडारण क्षमता - वर्ष 2005-06 मं निगम के प्रकिया केंद्र मं 12 गोदाम के भंडारण क्षमता 8.500 मीट््िरकटन रहिस, उही वर्ष 2012-13 मं बढ़ा के 43 गोदाम करे गइस। जेकर क्षमता 64.500 मीट््िरकटन हो गेय हे। वर्ष 2016-17 मं 112 गोदाम जेकर भण्डारण क्षमता 1.72.500 मीट््िरकटन हे राषि रू. 6.60 करोड़ के लागत के 12 गोदाम बनाए जावत हे। जेकर पूर्ण होय मं कुल 124 गोदाम जेकर भण्डारण क्षमता 1.90.500 मीट््िरकटन हो जाही। वर्ष 2017-18 मं राष्ट््रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत राषि रू. 2.28 करोड़ लागत के 3 गोदाम क्षमता 1500-1500 मीट््िरकटन के प्रक्रिया केंद्र अभनपुर जिला रायपुर, चपले जिला रायगढ़ अउ खोखसा जिला जांजगीर मं बनाए जाही। गे्रडिंग मषीन, वर्ष 2005-06 मं राज्य के बीज प्रक्रिया केंद्र मं बीज के संसाधन कार्य 12 मषीन से करे जात रहिस। जेन मं वृद्धि करे गइस वर्ष 2012-13 मं 27 प्रक्रिया केंद्र मं कुल 50 मषीन लगाए गइस जेमा बीज संवर्धन कार्य करे जावत हे। वर्ष 2017-18 मं राष्ट््रीय कृषि विकास योजना से राषि रू. 2.30 करोड़ के लागत से 5 मषीन के प्रक्रिया केंद्र गीदम जिला-दंतेवाड़ा, बसना जिला-महासमुंद, घोटिया जिला-कवर्धा अभनपुर जिला-रायपुर अउ ंषिवपुरी जिला-राजनांदगांव मं स्थापित करे के कार्य योजना हे। जेकर ले कुल मषीन के क्षमता बढ़के 55 हो जाही। जिला कार्यालय, निगम मं वर्तमान मं छ.ग. राज्य के जमों जिला मं जिला कार्यालय संचालित हे। जेमा कृषक मनला तकनीकी मार्ग दर्षन के संगे-संग उन्नत किसम के कृषि यंत्र पौधा के संरक्षण औषधि मनके सामग्री प्रदाय छ.ग.षासन के राज्य स्तरीय समिति के अनुमोदित दर मं योजना के अंतर्गत प्रदाय करे जात हे। जैव उर्वरक, छोटे उरला ’अभनपुर’ मं प्रदेष के पहला बायोफर्टि लाईजर संयंत्र के स्थापना वर्ष 2011-12 मं 14.00 लाख पाकिट कलपनर के उत्पादन करे जात रहिस। संयंत्र के उत्पादन क्षमता मं वृद्धि करके वर्ष 2016-17 मं 32.14 लाख पाकिट उत्पादन अउ वितरण कार्य करे गेय हे। बायोफर्टिलाईजर संयंत्र ल आधुनिक करत तरल जैव उर्वरक संयंत्र लगाय के कार्य करे जात हे। गुजरात पैटर्न मं अनुदान व्यवस्था, अनुसार कृषि के अनुसार अनुदान व्यवस्था-प्रदेष के कृषक मनला ड््रीप स्प्रीकलर अउ कृषि यंत्र प्राप्त करे मं अध्यक्ष के सुलभ सुविधा प्राप्त होवय एकर बर गुजरात पेटर्न लागू करे गेय हे। किसान के हित मं अनुदान मं कृषियंत्र अउ सिंचाई सामग्री प्रदाय करे बर एक नवां प्रणाली प्रारंभ करे गेय हे। जेन सूचना प्रोद्योगिकी आई.टी. के प्रयोग से पूरा पारदर्षी अउ आॅनलाईन होही।

leave a comment