संविधान दिवस के मउका म स्कूल सिक्छा बिभाग डाहर ले राज्य स्तरीय वेबिनार

संविधान दिवस के मउका म स्कूल सिक्छा बिभाग डाहर ले राज्य स्तरीय वेबिनार

15-May-2021
संविधान दिवस के मउका म स्कूल सिक्छा बिभाग डाहर ले राज्य स्तरीय वेबिनार के आयोजन करे गिस। ये कार्यक्रम म मुख्यमंतरी भूपेश बघेल कहिन कि लोगन के गरिमा अउ देस के एकता ल हमर संविधान बनाय राखे हे। हम सब ल संकल्प लेय ल पढ़हि कि हमर महान संविधान के रक्छा कर सकन। जब ये संविधान सुरक्छित रहि, तब हमर देस, इंहा रहइया लोगन अउ ओखर भविस्य सुरक्छित रहि। मुंख्यमंतरी कहिन कि नवा पीढ़हि के मन म अपन संविधान के प्रति आस्था अउ गौरव के भाव जगाय ल पढ़हि, अउ येकर लिये छत्तीसगढ़ के स्कूल म संविधान के प्रस्तावना के वाचन अउ महत्व पुर्न अंस के चर्चा के शुरुआत करे गेय हे। मुख्यमंतरी ये मउका म डॉ भीमराव अम्बेडर अउ सब्बो संविधान निर्माता ऊपर चर्चा घलो करिन। हमर महान नेता रास्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, मौलाना अब्दुल कलाम अउ डॉ. भीमराव अम्बेडकर जइसे मनिसि मन कहिन कि हमर देस संविधान ले चलहि। भूपेश बघेल कहिन कि हमर संविधान के निर्माण म देस के हर वर्ग, हर समाज अउ हर छेत्र के विचारक, चिंतक अउ विधि विशेसज्ञ के भूमिका रहिन। गौरवसाली संविधान बनाय के बाद येला 26 नंवबर 1949 म संविधान सभा येला अंगीकार करिस। येकर सेती आज के दिन संविधान दिवस कहलाथे अउ 26 जनवरी 1950 के येला लागु करे गिस। मुख्यमं तरी कहिन कि संविधान के रचना उदारता के साथ करे गेय हे येमा संविधान निर्माण प्रक्रिया म सामिल सब्बो लोगन के अंतस के बात ल जोड़े गेय हे। संग म अवइया पीढ़ हि अउ सब्बो लोगन ल ये संविधान जोड़ के राखे रहि। मुख्यमंतरी कहिन कि हमर संविधान के विसेसता हे कि येला भारत के लोगन मन खुद बनाइस अउ खुद ल समर्पित करिन। भूपेश बघेल आखिर म संविधान के प्रस्तावना के पाठ करिन।

leave a comment