राजीव गांधी किसान न्याय  योजना किसान हितैसी म अगुवा छत्तीसगढ़

राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसान हितैसी म अगुवा छत्तीसगढ़

07-May-2021
राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसान हितैसी म अगुवा छत्तीसगढ़ रायपुर। छत्तीसगढ़ म 21 मई के राजीव गांधी किसान न्याय योजना के सुरुआत होइस। भूपेश सरकार के ये योजना ले प्रदेस के 19 लाख किसान परिवार ल लाभ मिलहि। अभी किसान मन के खाता म सीधा रुपया पहुंचे के सुरुआत होगे। योजना ले लाभ पहुंचाय किसान मन कहत हवय कि ये किसान मन बर संजीवनी साबित होही। ये सरकार के फइसला ले ही संभव हो पाइस। भूपेश सरकार वादा ल पूरा करइया सरकार हरय। ये गरीब लोगन के दुख दरद हरइया सरकार हरय। मुख्यमंतरी भूपेश बघेल योजना के सुभारंभ करत कहिन कि प्रदेस के 19 लाख किसान ल 57 करोड़ रुपया चार किश्त म सरकार देहि। पहिली किश्त म 15 सौ करोड़ रुपया देय जाहि। योजना म धान अऊ मक्का के खेती करइया 9 लाख 53 हजार 706 सीमांत किसान, 5 लाख 60 हजार 284 छोटे किसान अऊ 3 लाख 20 हजार 844 बड़े किसान मन ल लाभ होहि। गन्ना के किसान मन ल 355 रूपया प्रति क्विंटल के भाव म भुगतान करे जाहि। येखर ले गन्ना के खेती करइया 34 हजार 637 किसान मन ल 73 करोड़ 55 लाख रूपया चार किश्त म मिलहि।.प्रथम किश्त के 18.43 करोड़ रूपया जारी होगे। येखर संग वर्ष 2018-19 के बोनस के बकाया 50 रुपया प्रति क्विंटल के दर ले 24 हजार 414 किसान मन ल 10 करोड़ 27 लाख रूपया देय जाहि। न्याय योजना ले धान फसल के 18 लाख 34 हजार 834 किसान मन ल प्रथम किश्त के रूप म 1500 करोड़ रूपया देय जाहि। किसान मन ल प्रति एकड़ अधिकतम 10 हजार रुपया मिलत हे। अइसने गन्ना फसल के 2019-20 म अधिकतम 355 रूपया प्रति क्विंटल के भाव ले भुगतान करे जात हवय। प्रदेस के 34 हजार 637 गन्ना के खेती करइया किसान मन ल 73 करोड़ 55 लाख रूपया चार किश्त म मिलहि। जेमा प्रथम किश्त 18 करोड़ 43 लाख 21 मई के जारी होइस। अऊ 2018-19 म खरीदी करे के 50 रूपया प्रति क्विंटल के भाव ल प्रोत्साहन रासि देय जात हे। येकर तहत प्रदेस के 24 हजार 414 किसान मन ल 10 करोड़ 27 लाख रूपया देय जाहि। ----- राजीव गांधी किसान न्याय योजना के सुभारंभ के बेरा वीडियो कॉन्फेसिंग के जरिये कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी अऊ राहुल गांधी जुड़िन। ये बेरा सोनिया गांधी कहिन कि किसान न्याय योजना राजीव जी के सपन ल साकार करे जइसा हरय। मैं येखर बर भूपेश सरकार ल बधाई देवत हव। ये किसान मन बर क्रांतिकारी योजना साबित होहि। राहुल गांधी कहिन कि ये सिर्फ़ छत्तीसगढ़ के योजना नई हे, पूरा देस ल दिसा देवइया योजना हरय। छत्तीसगढ़ के भूपेश सरकार ल मैं बधाई देवत हव। ------- छत्तीसगढ़ सरकार के महत्वाकांक्षी राजीव गांधी न्याय योजना लॉकडाउन के बिपति के बेरा किसान मन के सहारा बनिस। मुख्यमंतरी भूपेश बघेल किसान मन के पीरा ल समझ के सल्लग काम करत हवय। येकर ले प्रदेस के किसान मन अब्बड खुस हे। लॉकडाउन के बेरा किसान मन ल योजना म पइसा मिले ले मान बढ़िस हे। दंतेवाड़ा जिला के भोगाम के रहइया महिला किसान फूलोबाई कहिस कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना म पइसा मिलिस हवय। बिपति म पइसा मिलिस त अब्बड़ काम आइस। ये पइसा ले पानी गिरे के पहिली खेती किसानी के तइयारी बर एक सहारा मिलिस। फूलोबाई बताइस कि ये बछर सोसायटी म 62 क्विंटल 80 किलो धान बेचे रहेव अऊ सोसायटी डाहर ले 2 लाख 14 हजार 296 रुपया मिल रहिस। भूपेश सरकार किसान मन के हित म 25 सौ रुपया समर्थन मूल्य म धान खरीदी करिस, अऊ अब अंतर के रासि 42 हजार रुपया चार किस्त म आहि। जेकर पहिली किस्त 11 हजार 276 रुपया सीधा बैंक खाता म जमा होइस। जम्मो रुपया खेती किसानी के संगे संगे परिवार के काम आहि। अइसने बस्तर जिला के तोकापाल विकासखंड के तारागांव म सुखद कहिनी सुने बर मिलिस। गांव के किसान सोमारू मुरिया ल राजीव गांधी न्याय योजना म रुपया मिलिस। ये ओकर जीवन म संजीवनी साबित होइस। छत्तीसगढ़ सरकार के पीरा हरइया योजना ले लोगन के सपना पूरा होवत हे। सोमारु बताइस कि लॉकडाउन के सेती मजदूरी बंद होगे रहिस। येकर सेती परिवार के गुजर बसर म संकट आगे रहिस। आगु कहिस कि ओहा छोटे किसान हरय। खेती के संग मजदूरी करके परिवार ल चलात रहेव। फेर लॉकडाउन लगिस त बाहर के सब्बो काम बंद होगे। येकर ले परिवार के खर्चा चलाय बर संकट आइस। फेर मुख्यमंतरी भूपेश बघेल ह परिवार के मुखिया के तरह लोगन के दरद ल समझिन। बिपति के बेरा राजीव गांधी किसान न्याय योजना ले 2019-20 समर्थन मुल्य म धान बेचइया मन के खाता म पहिली किस्त आइस। अइसे कर भूपेश बघेल परिवार के पीरा हरइया मुखिया के जिम्मेदारी निभाइन। सोमारू बताइस कि ओखर बैंक खाता म योजना के पहिली किस्त के 32 हजार रुपया जमा होइस।

leave a comment