गणतंत्र के सफलता जनता के भागीदारी अऊ ओखर सपना ल पूरा करे म हवय : भूपेश बघेल

गणतंत्र के सफलता जनता के भागीदारी अऊ ओखर सपना ल पूरा करे म हवय : भूपेश बघेल

26-Jan-2020

रायपुर।  मुख्यमंतरी भूपेश बघेल आज बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग परेड मैदान में आयोजित गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में ध्वजारोहन कर परेड के सलामी लिन। ये अवसर म जनता के नाव अपन संदेश म कहिस कि गणतंत्र की सफलता के कसौटी जनता से सीखकर, उनकी भागीदारी ले, ओखर सपना ल पूरा करे म हवय। बघेल ह प्रदेसवासी ल 71वें गणतंत्र दिवस के सुभकामना देते हुए कहिस कि मोला ये कहे म कोनो संकोच नई हे कि छत्तीसगढ़ के माटी अऊ छत्तीसगढ़ के जनता ले बड़े कोई पाठसाला नई हे. मे जतका बार बस्तर आथव, सरगुजा जाथव या गांव-गांव के दौरा करथव त हर बार मोला नवा सीखे जरूर मिलथे। लोहण्डीगुड़ा आदर्स पुनर्वास कानून के पालन के सीख दिस। अऊ आदिवासी मन के जमीन वापसी ले छत्तीसगढ़ सरकार ल अपार यस मिलिस।

कुपोसन मुक्ति बर नवा सुरूआत दंतेवाड़ा ले होइस। बीजापुर ह ग्रामीण क्षेत्र म इलाज के सुविधा पहुंचाय के प्रन दिस। सुकमा अऊ बस्तर जिला म फूडपार्क, कोण्डागांव म मक्का प्रोसेसिंग इकाइ लगाय के जज्बा दिस।

 मुख्यमंत्री करिन तीन बड़े घोषणा

    मुख्यमंत्री कहिस कि आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर म नई पीढ़ी ल जागरूक अऊ ससक्त बनाय के संबंध म तीन नई घोषणा करत हंव। जब केन्द्र म यूपीए सरकार रहिस तब ’सिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009’ म प्रावधान करे रहिस कि लइका मन ल ओखर मातृभाषा म पढ़ाय जाय। विडंबना हे कि राज्य म अभी तक ये दिशा म ठोस पहल नहीं होय हे। आगामी सिक्षा सत्र से प्रदेस के प्राथमिक सालाओं म स्थानीय बोली-भाषा छत्तीसगढ़ी, गोंडी, हल्बी, भतरी, सरगुजिया, कोरवा, पांडो, कुडुख, कमारी आदि म पढ़ाई के व्यवस्था करे जाहि। सबो स्कूल म लइका मन ल संविधान के प्रावधानों से परिचित कराय बर प्रार्थना के समय संविधान के प्रस्तावना के वाचन, ओखर ऊपर चर्चा जैसे कार्यक्रम आयोजित करे जाहि। छत्तीसगढ़ के महान विभूति के जीवन ऊपर परिचर्चा जैसे आयोजन करे जाहि।


leave a comment